'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

हिंदी ब्लागिंग के एक दशक पर केन्द्रित वटवृक्ष का ऐतिहासिक अंक

4.8.120 पाठकों के सुझाव और विचार

हिंदी ब्लागिंग के एक दशक पर केन्द्रित वटवृक्ष का ऐतिहासिक अंक प्रेस से बाहर आने को आतुर है, किन्तु पाठकों की व्यापक मांग को देखते हुये हर किसी को उपलब्ध कराना संभव नहीं हो पा रहा है। प्रतियाँ सीमित है, इसलिए दिनांक 25.08.2012 तक अग्रिम बूकिंग कराने वाले को ही यह कालजयी अंक मिल सकेगा । 
इस अंक की विशेषताएँ : 
() विगत एक दशक के 1000 से अधिक चर्चित हिन्दी ब्लॉग,ब्लोगर्स और ब्लॉग संगोष्ठियों तथा सेमीनारों की चर्चा । 
() हिन्दी में सकारात्मक ब्लोगिंग को बढ़ावा देने वाले 500 से ज्यादा पुरुष और महिला ब्लोगर्स का सचित्र परिचय । 
() हिन्दी ब्लोगिंग की दिशा-दशा पर दो दर्जन से ज्यादा वरिष्ठ ब्लॉगरों की टिप्पणियाँ । 
() और भी बहुत कुछ । 
इस विशेष अंक की सहयोग राशि : 100/- मात्र 
डाक खर्च : 25/- 
धनराशि रु.125/- निम्न पते पर मनीऑर्डर से भेजकर अपनी प्रति सुरक्षित कराएं : 
माला चौबे, प्रकाशक : वटवृक्ष, एन-1/107, सेक्टर-एन-1, संगम होटल के पीछे, अलीगंज, लखनऊ-226024 (यू. पी.) 

या फिर प्रकाशक के बैंक एकाऊंट में धनराशि रु. 125/- जमाकर उसकी रसीद की स्केन कॉपी parikalpanaa@gmail.com पर अपने निवास के पते और फोन न. के विवरण के साथ दिनांक 25.8.2012 तक भेज दें । 
एकाऊंट का विवरण :
MALA CHAUBEY
SEVINGS A/C NO. 1854000101017440
PANJAB NATIONAL BANK 
BRANCH : ALIGANJ , LUCKNOW 

नोट : अग्रिम बूकिंग कराने वाले ब्लोगर्स अपनी प्रति दिनांक : 27.08.2012 को लखनऊ मे आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ब्लॉगर सम्मेलन के दौरान भी प्राप्त कर सकते हैं । 

यदि आप वटवृक्ष के वार्षिक अथवा आजीवन सदस्य हैं तो आपको यह धनराशी भेजने की आवश्यकता नही है, आपको आपके पते पर पत्रिका प्रति स्वत: भेज दी जायेगी। 
Share this article :

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.