'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

“वटवृक्ष” का अगस्त-2012 अंक हिंदी ब्लॉगिंग के एक दशक पर एकाग्र

6.6.120 पाठकों के सुझाव और विचार

हिंदी ब्लॉगिंग के एक दशक पर एकाग्र....

आप सभी को यह सूचित करते हुए अपार हर्ष की अनुभूति हो रही है , कि दशक के ब्लॉगर और दशक के ब्लॉग हेतु कराये गए मत सर्वेक्षण का कार्य विगत 30 मई को सफलतापूर्वक पूरा हो गया है, किन्तु जबतक परिकल्पना सम्मान के शेष सम्मान धारकों की चयन प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती तबतक इस सूची को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता . हम समग्र सूची को शीघ्र सार्वजनिक करेंगे किन्तु उससे पहले एक महत्वपूर्ण सूचना आप सभी के लिए :

“वटवृक्ष” का अगस्त-2012 अंक 
(हिंदी ब्लॉगिंग  के एक दशक पर एकाग्र )

() जिसमें उद्भव से अबतक के यानि इस दशक के 500 महत्वपूर्ण ब्लॉगर का चयन कर हिन्दी ब्लॉगिंग में उनके योगदान को रेखांकित किया जा रहा है 

() उनकी लेखन शैली और लेखन की विशिष्टताओं का उल्लेख करते हुये व्यापक चर्चा की जा रही है 

() इसके अतिरिक्त 100 ऐसे ब्लॉगर का चयन कर उनका उल्लेख किया जा रहा है जो हिन्दी ब्लॉगजगत को साहित्यिक सामग्रियों से परिपूर्ण करने की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं ।

() साथ ही 500 उदीयमान ब्लॉगरों का चयन करते हुये उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा भी की जा रही है।

इस विशेषांक का लोकार्पण अगस्त महीने में होने वाले भव्य परिकल्पना समारोह के दौरान होगा और इस अवसर पर 51 विशिष्ट ब्लॉगर “परिकल्पना सम्मान” से सम्मानित किए जाएँगे ।

आप सिर्फ इतना करें : अपने और अपने ब्लॉग की विशेषताओं/ ब्लॉग लिंक के साथ-साथ ब्लॉग शुरू करने की तारीख तथा उपलब्धियों/ सम्मानों/पुरस्कारों का उल्लेख 250 शब्दों में करते हुए निम्न ई मेल आई डी पर 15 जून-2012 तक अवश्य भेज दें । उसके बाद भेजी गयी प्रविष्टियों पर विचार नहीं किए जाएँगे । 
Share this article :

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.