'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

स्वर्ग से सुन्दर कुल्लू घाटी प्रैस रिपोर्टर :- दीपक शर्मा 'कुल्लुवी'

22.5.120 पाठकों के सुझाव और विचार

स्वर्ग से सुन्दर कुल्लू घाटी 
प्रैस रिपोर्टर  :- दीपक शर्मा 'कुल्लुवी' 

(Photo:writer Deepak Kulluvi with father Sh.Jai Dev 'Vidrohi' in beautiful Sainj Valley) 

(Photo:writer Deepak Kulluvi with wife kumud at Sangam of Vyas Parvati rivers at Bhuntar) 
बच्चों को गर्मीं की छुटियाँ पड्नें  वाली हैं I इसमें अधिकतर लोग बच्चों को साथ लेकर पहाड़ों पर घूमनें जाते हैं I जैसे शिमला,कश्मीर,कुल्लू मनाली I यह  सभी पर्यटक स्थल खूबसूरत हैं I लेकिन स्वर्ग से भी सुन्दर तो  कुल्लू घाटी ही  है I यह एक रमणीय पर्यटक स्थल है I कुल्लू  घाटी में बहुत वैरायटी है I यहाँ की ऊँची ऊँची देवदार के वृक्षों से भरपूर पहाड़ियाँ बरबस  पर्यटकों का मन मोह लेती हैं I मैं खुद कुल्लू का ही  रहनें वाला हूँ इसलिए यहाँ की खूबसूरती  और यहाँ  चप्पे चप्पे से वाकिफ हूँ  I यहाँ आप ऐडवैंचर  गेम्स जैसे  रिवर राफ्टिंग,ट्रैकिंग,स्कींग,रॉक  क्लाईमिंग  सब कर सकते हैं I और अपनी छुटियों का भरपूर लुत्फ़ उठा सकते हैं I यहाँ  घूमनें  के लिए बहुत ही सुन्दर मनमोहक  स्थान जैसे मनाली,नग्गर,रोहतांग,जगतसुख,भुंतर,शमशी,मणिकर्ण.गड्सा,खोखन,कुल्लू शहर,भेखली,बिजली महादेव,मलाना सैंज घाटी  इत्यादि हैं I सोलंग वैली में स्काई ग्लाइडिंग,स्नो ड्राइविंग का भरपूर आनंद उठाया जा सकता है I
(Photo:- kumud & Poonam in snow at Manali ) 
आप अपनें बजट अनुसार अपना टूर प्लान कर सकते हैं I दिल्ली से सीधी सरकारी,टूरिज्म की साधारण व वातानुकूलित,वोल्वो हर तरह की  बसे उपलब्ध रहती हैं I दिल्ली से सीधी हवाई सेवाएँ भी है कुल्लू के लिए हवाई अड्डा कुल्लू शहर से आठ किलोमीटर पहले भुंतर में है I टैक्सियाँ भी मिल जाती हैं दिल्ली से ट्रेन शिमला,किरतपुर साहब य जोगिंदरनगर तक मिल सकती है यहाँ से आगे कुल्लू तक बस  य टैक्सी  कुल्लू वैल्ली में सस्ते महंगे हर तरह के होटल उपलब्ध हैं  Iमनाली में सैंकड़ों होटल हैं जिनमें  होटल पुष्पक,अम्बैसडर,ग्रीन,स्नो व्यू इत्यादि हैं I  मनाली के आसपास किसी न किसी फिल्म की शूटिंग होती ही रहती है I हिमाचल  प्रशासन चुस्त दरुस्त है इसलिए प्लास्टिक बैग न ले जाएँ वर्ना  चालान हो जायेगा I प्लास्टिक पन्नियों पर यहाँ  वैन है I कागज़ के लिफाफे ही मिलेंगे पर्यावरण की रक्षा के लिए  I ट्रेडिशनल तिबतन,चाईनीज़ फ़ूड हर जगह और सस्ता मिलता है I

(Different type of Pure honey Gutti Oil,Anardana in Madhav Shop  Nangabag Raison) 
ठीक  मेरे घर के सामने भुंतर में व्यास और पार्वती नदियों का संगम है मनाली की तरफ से व्यास नदी आती है और मनीकर्ण की तरफ से पार्वती नदी I यह  विहंगम  दृष्य अद्भुत है I इस  विलय के बाद आगे  यह दोनों नदियाँ केवल एक ही नदी  'ब्यास'  बनकर चलती है  इसका प्राचीन नाम बिपाशा भी रहा है I
( Sangam of Vyas Parvati rivers at Bhuntar and Bijli Mahadev Mandir on top of the mountain) 
कुल्लू घाटी अपनीं कुल्लू टोपी और कुल्लू शालों के लिए मशहूर है पूरे विश्व में I पूरी घाटी हजारों छोटी बड़ी दुकानें,शोरूम हैं जिनमें भुट्टी विवर्स शमशी ,जेO जेO शाल , गगन शाल,रायसन विवर्स  प्रमुख हैं I  सारी वैल्ली (घाटी) में बहुत सारे मंदिर है I यहाँ के मंदिरों में कोई लूट खसूट नहीं है सीधे सादे लोग हैं  सीधे सादे पुजारी सब भोले भाले I बिजली  महादेव में भोले नाथ का भव्य मंदिर है यह कुल्लू शहर से चौदह किलोमीटर की दूरी  पर खूबसूरत से  पहाड़ पर स्थित है कुल्लू में श्री रघुनाथ जी का प्राचीन मंदिर है साथ में वैष्णो माता का मंदिर,बाबा बालक नाथ मंदिर ,गुग्गा देवता मंदिर
(Gugga Devta Mandir Kullu)
और  गुरुद्वारा  भी हैं I भुंतर में व्यास नदी के साथ  शिव मंदिर,सुन्दर और  गुरुद्वारा है   और पहाड़ी के ऊपर  बुद्ध मानेस्ट्री है ,बड़ी शमशी में माता का मंदिर,और छोटी शमशी में श्री जयदेव विद्रोही निर्मित  नैणा देवी  का सुन्दर मंदिर है जिसके पुजारी राजीव शर्मा जी हैं मनाली में हडिम्बा ,मनु के प्राचीन मंदिर हैं बुद्ध मानेस्ट्री भी है I भुंतर  शमशी में संध्या पैलेस होटल,होटल ट्रांसशिवा,होटल एयरपोर्ट ,रिवर व्यू ,राजमहल और अपैक्स रेस्तरां  हैं कुल्लू में होटल शोभला,रमणीक,रोहतांग हैं I  मनीकर्ण  में श्री राम मंदिर और गुरुद्वारा है जहाँ खाना गर्म पानी के चश्मों में बनता है I यहाँ दोनों जगह सब सुख सुविधाओं वाली धर्मशालाएं हैं होटल भी  हैं I गड्सा से ऊपर पहाड़ी पर प्राचीन ब्रह्मा मंदिर है यहाँ जो ब्रह्मा जी की मूर्ति है उसकी लम्बाई का किसी को कोई ज्ञान नहीं कथानुसार यह पाताल लोक तक लम्बी है I बजौरा  में प्राचीन शिव मंदिर है नग्गर में त्रिपुरा सुंदरी,ठाऊआ  और  प्राचीन शिव मंदिर है I समस्त कुल्लू घाटी घूमनें के लिए आपके पास पांच से लेकर सात दिन होनें चाहिए तभी आनंद आएगा I कुल्लू घूमनें  के लिए मई जून और अक्टूबर सबसे बढ़िया हैं I
(Photo:writer Deepak Kulluvi in heavy snow in Manali in 1987) 
दिसंबर में वर्फ गिरती है मनाली में विंटर कार्निवल  फैस्टिवल होता है सर्दी तो  बहुत होती है लेकिन बहुत मज़ा आता है  I सुखद पल कैद करनें के लिए  कैमरा या हेंडीकैम ले जाना न भूलें I 
(Plum in orchards of my in-laws)
कुल्लू  की  सर्दी का कोई पता नहीं कब हो जाये इसलिए गर्म कपड़े हमेशा साथ रखें I जो भी इस देवघाटी  कुल्लू एक बार जाता है बार बार जाने की इच्छा रखता है इतनीं कशिश है कुल्लू घाटी में विशवास न हो तो एक बार जाकर देखिये विश्वास हो जायेगा I
Share this article :

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.