'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

पैगाम (Deepak Kuluvi)

9.2.122पाठकों के सुझाव और विचार


Paigam


Paigam meri muhabbat ka kabool jo kar lete
tanhai na tang karti
khushi se ji lete


Deepak Kuluvi

पैगाम

पैगाम मेरी मुहब्बत का
कबूल जो कर लेते
तन्हाई न तंग करती
ख़ुशी से जी लेते

दीपक कुल्लुवी

پیگام

پیگام میری محبّت کا کابول جو کر لیتے
تنہائی نہ تنگ کرتی خوشی سے جی لیتے


Share this article :

+ पाठकों के सुझाव और विचार + 2 पाठकों के सुझाव और विचार

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.