'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

यादों के झरोखों में झांकिए एक बार हीं सही

13.9.111पाठकों के सुझाव और विचार


भारतीय जन नाट्य संघ की उत्तर प्रदेश इकाई और लोकसंघर्ष पत्रिका के तत्वावधान में दिनांक ११.०९.२०११ को लखनऊ के कैसरबाग स्थित जयशंकर प्रसाद सभागार में सहारा इंडिया परिवार के अधिशासी निदेशक श्री डी. के. श्रीवास्तव के कर कमलों द्वारा मेरी सद्य: प्रकाशित पुस्तक ‘हिंदी ब्लॉगिंग का इतिहास “ का लोकार्पण हुआ । इस अवसर पर वरिष्ठ साहित्यकार और आलोचक श्री मुद्रा राक्षस, दैनिक जनसंदेश टाइम्स के मुख्य संपादक डा. सुभाष राय, वरिष्ठ साहित्यकार श्री विरेन्द्र यादव, श्री शकील सिद्दीकी, रंगकर्मी राकेश जी,पूर्व पुलिस महानिदेशक श्री महेश चन्द्र द्विवेदी, साहित्यकार डा. गिरिराज शरण अग्रवाल आदि उपस्थित थे ।


प्रस्तुत है समारोह की कुछ झलकियाँ :
ब्लॉगर हेमंत,रणधीर सिंह सुमन और पुष्पेन्द्र कुमार सिंह
ब्लॉगर हेमंत,रणधीर सिंह सुमन और पुष्पेन्द्र कुमार सिंहलोकार्पण से पूर्व फुर्सत के क्षणों में श्री विरेन्द्र यादव और श्री शकील सिद्दीकी
लोकार्पण से पूर्व अतिथि गृह में वार्ता करते हुए नाट्यकर्मी राकेश जी,
साहित्यकार सुरेन्द्र विक्रम और वरिष्ठ आलोचक विरेन्द्र यादवलोकार्पण से पूर्व अतिथि गृह में वार्ता करते हुए नाट्यकर्मी राकेश जी,साहित्यकार सुरेन्द्र विक्रम और वरिष्ठ आलोचक विरेन्द्र यादव
लोकार्पण से पूर्व फुर्सत के क्षणों में श्री विरेन्द्र यादव और श्री शकील सिद्दीकी
फुर्सत के क्षणों में श्री डी.के. श्रीवास्तव और वरिष्ठ साहित्यकार श्री मुद्रा राक्षस
















विशिष्ठ अतिथि गृह में आगत अतिथियों का स्वागत करते रवीन्द्र प्रभात
















पावर पोईन्ट प्रजेंटेशन के माध्यम से पुस्तक का सार प्रस्तुत करती उर्विजा और उर्वशी












इस अवसर पर साहित्य और ब्लॉगजगत के बीच सेतु निर्माण करने वाली पत्रिका से प्रतिभागियों को रूबरू कराया गया


दीप प्रज्जवलित कर सभा का उदघाटन करते हुए श्री डी. के. श्रीवास्तव, साथ में साहित्यकार श्री शकील सिद्दीकी और पुस्तक के लेखक रवीन्द्र प्रभात
दीप प्रज्वलित करते हुए श्री मुद्रा राक्षस,श्री विरेन्द्र यादव,श्री डी. के. श्रीवास्तव, श्री शकील सिद्दीकी, श्री राकेश आदि
इसी क्रम में डा. सुभाष राय,श्री डी. के. श्रीवास्तव,श्री शकील सिद्दीकी और रवीन्द्र प्रभात
उदघाटन का एक दृश्य यह भी
सभागार में स्थान ग्रहण करते प्रतिभागीगण

श्री मुद्रा राक्षस, श्री विरेन्द्र यादव और डा. सुभाष राय
नाट्यकर्मी श्री राकेश का पुष्पों से सम्मान, बगल में पूर्व पुलिस महानिदेशक और साहित्यकार श्री महेश चन्द्र द्विवेदी
पुस्तक का लोकार्पण, वाएं से श्री शकील सिद्दीकी,डा. सुभाष राय,श्री विरेन्द्र यादव, श्री मुद्रा राक्षस, श्री डी. के. श्रीवास्तव,डा. गिरिराज शरण अग्रवाल,रवीन्द्र प्रभात और श्री राकेश
लोकार्पण का एक दृश्य यह भी .
लोकार्पण का एक दृश्य यह भी .
सभागार में शहर की गणमान्य महिलाएं
विचार व्यक्त करते हुए श्री मुद्रा राक्षसविचार व्यक्त करते हुए श्री विरेन्द्र यादव
विचार व्यक्त करते हुए श्री राकेश जी
वाराणसी के डा. अरविन्द मिश्र को परिकल्पना सम्मान प्रदान करते श्री मुद्रा राक्षस
साभागार में तल्लीन प्रतिभागीगण
श्री विरेन्द्र यादव स्मृति चिन्ह से सम्मानित
श्री राकेश जी स्मृति चिन्ह से सम्मानित
















श्री मुद्रा राक्षस जी स्मृति चिन्ह से सम्मानित















श्री डी. के. श्रीवास्तव जी स्मृति चिन्ह से सम्मानित




















विचार व्यक्त करते हुए श्री डी. के. श्रीवास्तव जी




















विचार व्यक्त करते हुए डा. सुभाष राय

सभागार में उपस्थित चर्चित ब्लॉगर डा. जाकिर अली रजनीश,
डा.अरविन्द मिश्र,हेमंत आदि
















सभागार में उपस्थित मीडिया और शहर के गणमान्य व्यक्ति















सभागार में उपस्थित गणमान्य व्यक्ति




















संचालन करते हुए डा. विनय दास




















धन्यवाद ज्ञापित करते हुए रवीन्द्र प्रभात
Share this article :

+ पाठकों के सुझाव और विचार + 1 पाठकों के सुझाव और विचार

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.