'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

देवघाटी कुल्लू एक सुन्दर पर्यटक स्थल रिपोर्ट:दीपक शर्मा "कुल्लुवी'

21.4.110 पाठकों के सुझाव और विचार

देवघाटी कुल्लू एक सुन्दर पर्यटक स्थल

रिपोर्ट:दीपक शर्मा "कुल्लुवी'

बच्चों को गर्मीं की छुटियाँ पड्नें वाली हैं I इसमें अधिकतर लोग बच्चों को साथ लेकर पहाड़ों पर घूमनें जाते हैं I जैसे शिमला,कश्मीर,कुल्लू मनाली I यह सभी पर्यटक स्थल खूबसूरत हैं लेकिन कुल्लू में बहुत वैरायटी है I यहाँ आप ऐडवेंचर गेम्स जैसे रिवर राफ्टिंग,ट्रैकिंग,स्कींग सब कर सकते हैं I और अपनी छुटियों का भरपूर लुत्फ़ उठा सकते हैं I यहाँ घूमनें के लिए बहुत ही सुन्दर स्थान जैसे मनाली,नग्गर,रोहतांग,जगतसुख,भुंतर,शमशी,मणिकर्ण.गड्सा,खोखन ,कुल्लू शहर,भेखली,बिजली महादेव,मलाना इत्यादि हैं I
आप अपनें बजट अनुसार अपना टूर प्लान कर सकते हैं I दिल्ली से सीधी सरकारी,टूरिज्म की साधारण वातानुकूलित,वोल्वो बसे उपलब्ध रहती हैं I दिल्ली से सीधी हवाई सेवाएँ भी है कुल्लू के लिए हवाई अड्डा कुल्लू शहर से आठ किलोमीटर पहले भुंतर में है I टैक्सियाँ भी मिल जाती हैं दिल्ली से ट्रेन शिमला ,किरतपुर,जोगिंदरनगर तक मिल सकती है यहाँ से आगे कुल्लू तक बस य टैक्सी कुल्लू वैल्ली में सस्ते महंगे हर तरह के होटल उपलब्ध हैं साडी वैल्ली में बहुत सारे मंदिर है I यहाँ के मंदिरों में कोई लूट खसूट नहीं है सीधे सादे लोग हैं I मनाली के आसपास कोई न कोई फिल्म की शूटिंग होती ही रहती है I हिमाचल प्रशासन चुस्त दरुस्त है इसलिए प्लास्टिक बैग न ले जाएँ वर्ना चालान हो जायेगा I प्लास्टिक पन्नियों पर यहाँ वैन है I कागज़ के लिफाफे ही मिलेंगे पर्यावरण की रक्षा के लिए ट्रेडिशनल तिबतन,चाइनीज़ फ़ूड हर जगह और सस्ता मिलता है
भुंतर में व्यास और पार्वती नदियों का संगम है मनाली की तरफ से व्यास नदी आती है और मनीकर्ण की तरफ से पार्वती नदी I इस विलय के बाद आगे यह ब्यास नदी बनकर चलती है कुल्लू घाटी अपनीं कुल्लू टोपी और कुल्लू शालों के लिए मशहूर है पूरे विश्व में I पूरी घाटी हजारों छोटी बड़ी दुकानें,शोरूम हैं जिनमें भुट्टी विवर्स शमशी ,जेO जेO शाल , गगन शाल,रायसन विवर्स प्रमुख हैं बिजली महादेव में भोले नाथ का भव्य मंदिर है यह कुल्लू शहर से चौदह किलोमीटर की दुरी पर पहाड़ पर स्थित है कुल्लू में श्री रघुनाथ जी का प्राचीन मंदिर है साथ में वैष्णो माता का मंदिर,बाबा बालक नाथ मंदिर ,गुग्गा देवता मंदिर भी हैं I भुंतर में शिव मंदिर और बुद्धिष्ट मोनास्ट्री,बड़ी शमशी में माता का मंदिर,और छोटी शमशी में नैणा माता का सुन्दर मंदिर है मनीकर्ण में श्री राम मंदिर और गुरुद्वारा है जहाँ खाना गर्म पानी के चश्मों में बनता है I यहाँ दोनों जगह सब सुख सुविधाओं वाली धर्मशालाएं हैं होटल भी हैं
Share this article :

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.