'हिमधारा' हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स का मंच

श्री श्याम प्रभु खाटू वाले का पंचम रंग रंगीलो शरद महोत्सव की धूम दीपक शर्मा कुल्लुवी (सिटिजन जर्नलिस्ट) जर्नलिस्ट टुडे नेटवर्क

29.4.110 पाठकों के सुझाव और विचार


श्री श्याम प्रभु खाटू वाले का पंचम रंग रंगीलो शरद महोत्सव की धूम


दीपक शर्मा कुल्लुवी सिटिजन जर्नलिस्ट )जर्नलिस्ट टुडे नेटवर्क


श्री श्याम प्रभु खाटू वाले का पंचम रंग रंगीलो शरद महोत्सव श्री श्याम सेवक परिवार लक्ष्मी नगर दिल्ली में बहुत ही शानदार तरीके से मनाया गया था I जिसमें हिन्दोस्तान के अलग अलग प्रान्तों से छह प्रमुख भजन गायक कलाकार आए थे I कोलकाता से श्री जयशंकर चौधरी और संजय मित्तल ,जयपुर से मुकेश बांगडा, दिल्ली से "दीपकुमुद सुर संगम संगीत कलव" प्रमुख श्री मति कुमुद शर्मा "कुल्लुवी" पालम से राहुल शर्मा, मंच संचालक थे गोपाल भरद्वाज I कार्यक्रम दुपहर से लेकर लेकर देर रात तक़ चला I इसमें 3VS मॉल के पीछे पार्किंग स्थल पर बहुत बिशाल बहुत ही सुन्दर पंडाल लगाया गया था I जिसमें खाटू श्याम जी की रंग बिरंगे फूलों से सुस्सजित भव्य मूर्ति बनाई गयी थी I साउंड काबिले तारीफ था और ऑर्केस्ट्रा लाजबाव सभी इतनें सुरीले कलाकार थे की हजारों की संख्या में श्रोता पंडाल में तो उपस्थित रहे ही बाहर भी खड़े रहे I अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे I रात तक पंडाल श्रोताओं से खचाखच भरा रहा I

भंडारे की व्यवस्था बहुत ही बढ़िया थी I प्रशाद वितरण भी आरती के बाद हुआ I आमंत्रित गायक कलाकारों का सम्मान श्री श्याम सेवक परिवार सेवादारों नें किया I "दीपकुमुद सुर संगम संगीत कल्व" प्रमुख श्री मति कुमुद शर्मा "कुल्लुवी" का सम्मान सुन्दर चुन्नीं के साथ श्री राजकुमार गुप्ता जी की बेटी श्रीमती मानसी जी नें किया और उनके प्रोग्राम समाप्ति के बाद बहुत ही सुन्दर भगवन श्री कृष्ण की फोटो भेंट दी गयी I कुमुद का साथ दिया उनके बेटे दीपंकर शर्मा नें जो एक क्लासिकल सिंगर है उन्होनें दीपक शर्मा "कुल्लुवी" के लिखे भजन गाए I
जयशंकर जी नें राजस्थानी हरियाणवी भजनों से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया,मुकेश बांगडा जी का तो अपना ही अलग दिलकश अंदाज है मित्तल जी नें जोर शोर से ऊँची आवाज़ में प्यारे प्यारे भजन सुनकर श्याम बाबा को मनाया राहुल जी भी सबसे पहले हाजरी लगानें वालों में थे I सारा दिन निरंतर कलाकारों और श्रोताओं पर फूलों की वर्षा होती रही श्याम बाबा को छप्पन भोग का प्रशाद चढाया गया अखंड ज्योति जलती रही I भव्य दरवार था और श्याम बाबा का आलोकिक श्रृंगार इतनें बड़े पैमाने पर इतना सफल आयोजन कोई आसान बात नहीं श्रृंगार सामान,भजनों की सी.डी. कैसेट, धूप, माला,इत्यादि के स्टाल भी लगे हुए थे I सबनें इस कार्यक्रम की भूरी भूरी प्रशंसा की I



video












Share this article :

एक टिप्पणी भेजें

हिमधारा हिमाचल प्रदेश के शौकिया और अव्‍यवसायिक ब्‍लोगर्स की अभिव्‍याक्ति का मंच है।
हिमधारा के पाठक और टिप्पणीकार के रुप में आपका स्वागत है! आपके सुझावों से हमें प्रोत्साहन मिलता है कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का प्रयॊग न करें।
हिमधारा में प्रकाशित होने वाली खबरों से हिमधारा का सहमत होना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी खबर की जिम्मेदारी लेने के लिए बाध्य हैं।

Materials posted in Himdhara are not moderated, HIMDHARA is not responsible for the views, opinions and content posted by the conrtibutors and readers.