72 घण्टे लगातार शतरंज मैराथन रिकॉर्ड

हिमाचल प्रदेश के चार खिलाड़ियों ने 11 से 14 जून तक 72 घंटे तीन मिनट तक और दो खिलाड़ियों ने 63 घंटे छह मिनट तक शतरंज खेल कर नया वर्ल्ड रिकार्ड बनाया है। प्रदेश शतरंज संघ की ओर से ठियोग में वर्ल्ड बुक आफ रिकार्ड्स लंदन के लिए यह प्रतियोगिता करवाई गई।

संघ के कार्यकारी अधिकारी रोमित वर्मा ने बताया कि ठियोग के शिमला हिल्स होटल  इंटरनेशनल में ब्लिट्ज़ प्रारूप में रोहड़ के हितेश आजाद और ठियोग के संजीव वेक्टा ने 72 घंटे तीन मिनट तक 424 गेम खेलकर रिकार्ड बनाया। इतने ही समय में विक्की आजाद और अनिल शोष्टा ने रेपिड प्रारूप में 187 गेम खेलीं। ठियोग के अक्षय शोष्टा और शिमला के दलीप सिंह ने बुलेट प्रारूप में 63 घंटे छह मिनट में 663 गेम खेलीं।  यह प्रतियोगिता आधिकारिक रूप से वर्ल्ड बुक आफ रिकार्ड्स लंदन के

अधिकारी जसवीर सिंह की निगरानी में हुई, जबकि तकनीकी प्रबंधन गुजरात के अंकित दलाल और पार्थ शाह ने किया। यह रिकार्ड खेल के तीन विभिन्न आयाम बुलेट, ब्लिट्ज़ और रेपिड फार्मेट में बनाया गया। विश्व में पहली बार शतरंज की तीन श्रेणियों के तहत यह रिकार्ड बनाया

गया। उन्होंने बताया कि खेल के दौरान वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मापदंडों और नियमों का अनुपालन किया गया। इस आयोजन में ब्लिट्ज और रैपिड श्रेणियों का प्रसारण live.followchess. com पर लाइव किया गया। खिलाड़ियों द्वारा खेली गई प्रत्येक गेम और चाल का रिकॉर्ड और प्रसारण डिजिटल बोर्ड के माध्यम से किया गया। इस आयोजन की निरंतर वीडियो रिकॉर्डिंग की गई। वर्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लन्दन के प्रतिनिधि जसवीर सिंह ने मौके पर रिकॉर्ड का प्रोविजनल प्रमाण पत्र जारी किया।

इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश शतरंज संघ के पदाधिकारी सीता राम शर्मा, संजीव ठाकुर , एन एस गुलेरिया, सुनील ग्रोवर के अतिरिक्त डॉ सुनील अत्री, रमेश खाची, जगदीश बाली, रौशन जसवाल सहित लगभग चालीस वॉलिंटर ने आयोजन में अपनी सेवाएँ दी।